केन्द्रीय विद्यालय, आई.वी. आर. आई. बरेली

हिन्दी पखवाड़े का आयोजन

१४ सितम्बर २०१५ को हिंदी दिवस के अवसर पर माननीय आयुक्त महोदय की अपील प्रार्थना सभा पढ़कर सुनाने एवं उस पर अमल करने के सन्देश  के साथ हिन्दी पखवाड़े का शुभारम्भ हुआ| आयुक्त महोदय की अपील विद्यालय के प्रमुख प्रदर्शन पट्ट पर प्रदर्शित की गई है |

१.  पूरे सितम्बर माह प्रार्थना सभा के सभी कार्यक्रम हिन्दी भाषा में ही प्रस्तुत किये गए |

२.  प्रत्येक दिवस हिन्दी के महत्व को दर्शाने वाली प्रस्तुति दी गई |

३.  १४ सितम्बर से २८ सितम्बर तक पखवाड़े के दौरान हिन्दी के प्रमुख कवियो की कविताओं  एवं पदों का सस्वर वाचन बच्चों द्वारा  प्रस्तुत किया गया |

४.  विद्यालय के सूचना पट्ट पर सूचनाए हिन्दी में जारी की गईं |

५.  प्रमुख प्रदर्शन पट्टों  पर हिन्दी साहित्य एवं राजभाषा हिन्दी से जुड्रे आरेख एवं सामग्री प्रदशित की गई |

६.  पुस्तकालय में हिन्दी माध्यम की नवीन पुस्तकोंकी लघु प्रदर्शनी लगाई गई एवं ज्यादा से ज्यादा बच्चों को पुस्तकें लेने के लिए प्रेरित किया गया |

७.  छात्र उपस्थिति रजिस्टर में बच्चों के नाम हिन्दी में लिखे गए |

८.  स्टाफ उपस्थिति रजिस्टर में भी नाम हिन्दी में लिखे जाते हैं |

९.  विद्यालय की अवर श्रेणी लिपिक ने लखनऊ संभाग के के० वि० अलीगंज में आयोजित हिन्दी कार्यशाला में भाग लिया |

१०.                   अधिकांश आदेश एवं सूचनाएं हिन्दी में जारी की गई |

११.                   २८ सितम्बर २०१५ को हिन्दी पखवाड़े के अन्तर्गत अंत्याक्षरी प्रतियोगिता आयोजित की गई जिसमें कक्षा ६ से १० तक के बच्चों ने उत्साहपूर्वक भाग लिया |

१२.                   हिन्दी पखवाड़े के समापन का कार्यक्रम प्रसिद्ध साहित्यकार डॉ. मुरारीलाल सारस्वत जी की उपस्थिति में संपन्न हुआ |मुख्य अतिथि के रूप में पधारे डॉ. मुरारीलाल सारस्वत जी ने हिन्दी के वर्तमान स्वरूप एवं उसके बढ़ते वर्चस्व पर प्रकाश डाला | अपनी प्रेरणादायी कविताओं के काव्य पाठ द्वारा बच्चों में हिन्दी के राजभाषा रूप को उन्नत बनाने एवं साहित्य में रुचि लेने के लिए प्रेरित किया |

१३.                   भारत सरकार के माननीय गृहमंत्री जी द्वारा प्रेषित सन्देश समापन के अवसर पर पढ़कर सुनाया गया जिसके माध्यम से भारत का गौरव राजभाषा हिन्दी को अपने कार्य-व्यवहार में अपनाने का सन्देश दिया गया |